Satyamev India

Online News Network

Tag: online dharam karam

जब गणपति ने दिया बुद्धि और विवेक का परिचय

एक बार भगवान शिव के मन में एक बड़े यज्ञ के अनुष्ठान का विचार आया। सारे गणों को यज्ञ अनुष्ठान की अलग-अलग जिम्मेदारियां सौंप दी गईं। सबसे बड़ा काम था यज्ञ में सारे देवताओं को आमंत्रित करना। आमंत्रण भेजने के लिए पात्र व्यक्ति का चुनाव किया जाना था, जो समय रहते सभी लोकों में जाकर […]






सावन के दुर्लभ संयोग में इस तरह पूरी होंगी आपकी मनोकामनाएं

सोमवार से सावन माह का प्रारंभ हो रहा है और ग्रहों की चाल इस बार एक दुर्लभ संयोग बना रही। श्रावण मास का प्रारंभ और अंत सोमवार से हो रहा है। ज्योतिर्विदों  का मानना है कि ऐसा संयोग कई वर्षों के बाद आता है। सावन के महीने में भगवान शिव की पूरा करने से मनवांछित […]






मनोकामना पूर्ति के लिए सावन में इन मंत्रों के साथ करें शिव पूजा

पूजा में मंत्रों के उच्चारण का विशेष महत्व है। खासकर शिव पूजा में ऐसा माना जाता है कि अगर पूजा ना भी कर सकें, तो केवल शिव मंत्रों का जाप कर भी इसका पूरा फल मिलता है। श्रावण मास में भगवान शिव की कृपा प्राप्त कर अपनी मनोकामनाएं पूर्ण करने में भी मंत्रों का विशेष […]






यहां वर्जित है हनुमान जी की पूजा !

भारत में एक जगह ऐसी है जहां हनुमान जी की पूजा नहीं की जाती है। यह जगह है उत्तराखंड स्थित द्रोणागिरि गांव। यहां के लोगों का मानना है कि हनुमान जी जिस पर्वत को संजीवनी बूटी के लिए उठाकर ले गए थे, वह यहीं स्थित था। चूंकि द्रोणागिरि के लोग उस पर्वत की पूजा करते […]






गुरु पूर्णिमा: जानिए इस दिन क्या करना चाहिए हमें…

आषाढ़ के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को ही गुरु पूर्णिमा कहते हैं। हिन्दू धर्म में या यूं कहें कि भारत में गुरु पूर्णिमा का बेहद महत्व है। ना केवल हिन्दू भाई, बल्कि सिख भाई भी इस दिन को महत्वपूर्ण मानते हुए अपने अनुसार मनाते हैं। यूं तो हर माह की पूर्णिमा को हिन्दू धर्म में […]






पूजा का दोगुना फल पाने के लिए इस प्रकार करें आचमन

आचमन का अर्थ होता है पवित्र जल ग्रहण करते हुए आंतरिक रूप से स्वयं की शुद्धि। शास्त्रों में आचमन ग्रहण करने की कई विधियां बताई गई हैं, यहां हम आपको इनमें कुछ जरूरी चीजें बता रहे हैं। किसी भी पूजा में आचमन करना सर्वथा आवश्यक माना गया है, ऐसा ना करने से जहां पूजा का […]






शंख से नहीं चढ़ाते शिवलिंग पर जल, जानिए क्यों ?

हम सब जानते है की पूजन कार्य में शंख का उपयोग महत्वपूर्ण होता है। लगभग सभी देवी-देवताओं को शंख से जल चढ़ाया जाता है लेकिन शिवलिंग पर शंख से जल चढ़ाना वर्जित माना गया है। इस संबंध में शिवपुराण में एक कथा बताई गई है। शिवपुराण के अनुसार शंखचूड नाम का महापराक्रमी दैत्य हुआ। शंखचूड […]






पाप नष्ट होने के साथ ही सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती है देवशयनी एकादशी

देवशयनी एकादशी व्रत २०१७ में मंगलवार ०४ जुलाई ( Tuesday the 04th July 2017) को किया जायेगा I आषाढ़ शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहते हैं। देवशयनी एकादशी के दिन से भगवान विष्णु का शयनकाल प्रारम्भ हो जाता है ..इसीलिए इसे देवशयनी एकादशी कहते हैं। देवशयनी एकादशी के चार माह के बाद भगवान् विष्णु […]






जानिए, क्यों जली सोने की लंका

“मां पार्वती के लिए बनी थी सोने की लंका” हम सभी जानते हैं कि रावण की एक सोने की लंका थी जिसे हनुमान ने अपनी पूंछ में आग लगाकर जला दिया था। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह लंका शिवजी के आदेश पर मां पार्वती के लिए बनाई गयी थी। जाने इसके पीछे की […]






satyamev india © 2015