Satyamev India

Online News Network

Category: सख्सियत

महज 25 की उम्र में बन गई एसपी

झांसी। आईपीएस गरिमा सिंह को हाल ही में झांसी जिले की कमान सौंपी गई है। महज 25 की उम्र में आईपीएस बनीं गरिमा की यह पहली पोस्टिंग है। बात उन दिनों की है जब गरिमा दिल्ली यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहीं थीं। गरिमा बताती हैं, “डीयू में पढाई के दौरान मैं एक मॉल से रात […]






पहले मौत के चंगुल से बचे, अब ‘सबसे उम्रदराज’

आउशवित्ज़ नाज़ी यातना शिविर से जीवित बचने वालों में से एक इसराइल क्रिस्ताल अब दुनिया के सबसे उम्रदराज व्यक्ति हैं. गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का कहना है कि क्रिस्ताल का जन्म 1903 में पोलैंड के ज़ारनोव में हुआ था और दोनों विश्व युद्धों के दौरान वो वहीं रहे. बाद में वो इसराइल के हैफा शहर में […]






शाहरुख खान की कार पर पत्थरबाजी

अहमदाबाद : बॉलीवुड के किंग यानी शाहरुख खान की कार पर पत्थरबाजी की गयी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार गुजरात के अहमदाबाद में अपनी अगली फिल्म रईस की शूटिंग करने पहुंचे शाहरुख के साथ यह बर्ताव किया गया है. शूटिंग के सिलसिले में यहां पहुंचे किंग खान एक होटल में ठहरे हुए हैं. टीवी रिपोर्ट […]






डीएम बी चन्द्रकला सेल्फी प्रकरण: कटघरे में मीडिया ?

सत्यमेव इण्डिया स्पेशल बुलंदशहर : Selfie with DM मामले में जैसे जैसे बहस छिड़ती जा रही है वैसे वैसे इस मामले से जुड़े कई चौकाने वाले पहलू सामने आ रहे है। 1 फरवरी को फ़राज़ नामक युवक को डीएम के साथ जबरन सेल्फ़ी लेने के मामले युवक को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर लिया गया। […]






होश वालों को खबर क्या, जिंदगी क्या चीज है ….

मशहूर शायर निदा फाजली नहीं रहे. अपने लेखन से लोगों का दिल जीतने वाले निदा फाजली ने कई मशहूर हिंदी गानों को लिखा. उनके लिखे गीतों में “होश वालों को खबर क्या”(सरफरोश),तू इस तरह से मेरी जिदगी में शामिल हैं (फिल्म आहिस्ता-आहिस्ता), कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता (फिल्म आहिस्ता-आहिस्ता) जैसे गाने शामिल है. […]






हिंदी और उर्दू के मशहूर शायर पद्मश्री निदा फाजली का निधन

मशहूर हिंदी और उर्दू शायर निदा फाजली का निधन हो गया है. 78 साल की आयु में निदा फाजली का सांस लेने की तकलीफ के बाद निधन हो गया. फाजली साहब का साहित्य के साथ-साथ बॉलीवुड में भी विशेष योगदान रहा. वे उर्दू के काफी सम्मानित शायरों में गिने जाते थे. फाजली साहब को 2013 […]






झाबुआ के झरोखे से

जावेद अनीस   मध्यप्रदेश के इतिहास में दिग्विजय सिंह के बाद शिवराज सिंह चौहान ऐसे दूसरे व्यक्ति बन गये हैं जिन्होंने मुख्यमंत्री के एक दशक पूरा किया है, बीते 29 नवंबर को उन्होंने अपने मुख्यमंत्रित्व काल का 10 साल पूरा कर लिया है। इस दौरान हुए ज्यादातर चुनावों और उपचुनावों में बीजेपी ने अपनी पकड़ […]






सावित्रीबाई फुले जिन्होंने भारतीय स्त्रियों को शिक्षा की राह दिखाई  

उपासना बेहार “…..ज्ञान बिना सब कुछ खो जावे, बुद्धि बिना हम पशु हो जावें, अपना वक्त न करो बर्बाद, जाओ, जाकर शिक्षा पाओ……” सावित्रीबाई फुले की कविता का अंश   अगर सावित्रीबाई फुले को प्रथम महिला शिक्षिका, प्रथम शिक्षाविद् और महिलाओं की मुक्तिदाता कहें तो कोई भी अतिशयोक्ति नही होगी, वो कवयित्री, अध्यापिका, समाजसेविका थीं. […]






|||जनम|||

    गोपाला ने अपना एक झोला और बैग लिया और ट्रेन में बैठ गया,ये ट्रेन दुर्ग से जगदलपुर जा रही थी।गर्मी के दिन थे,उसेखिड़की के पास वाली सीट मिली । ट्रेनचलने लगी तो भागते हुए तीन युवक आये और ठीक उसके सामने वाली सीट पर बैठ गए । ट्रेन चल पड़ी तोथकेहोने के कारण […]






…और चोर पकड़ा गया

उपासना बेहार एक शहर में अर्चना नाम की प्यारी सी लड़की रहती थी। अर्चना के मम्मी और पापा दोनो ही डाक्टर थे। अर्चना 9 कक्षा में पढ़ती थी। उसे पेंटिग का बहुत शौक था। वह पढ़ाई में कितनी भी व्यस्त रहे,पेंटिंग के लिए समय जरुर निकाल लेती थी। जब वह बहुत छोटी थी तब उसकी […]






satyamev india © 2015