Satyamev India

Online News Network

Category: विचार

“प्राथमिक शिक्षा का वर्तमान और भविष्य की चुनौतियां”

आजकल हर जगह “उ प्र की बेसिक शिक्षा का गिरता स्तर” पर चर्चा चल रही है, जिसमें अनेक विद्वान लोग अपने अपने तर्क दे रहे हैं। इस सम्बन्ध में मैं एक प्रश्न करना चाहता हूँ कि आपमें से किसका बच्चा है जो केवल क्लास में ही पड़ता है और घर पर किताब उठाकर न देखता […]






आलेख- सपा-कांग्रेस गठबंधन से कितने बदलेंगे समीकरण

सत्यम सिंह बघेल उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन हो गया है। अब कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ेगी जबकि सपा 298 सीटों पर लड़ेगी। अब सवाल यह उठता है कि सपा और कांग्रेस के बीच हुए इस गठबंधन से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में समीकरण किस हद […]






शिवराज के ग्यारह साल

जावेद अनीस   बीते 29 नवंबर को शिवराज सिंह चौहान ने बतौर मुख्यमंत्री 11 साल पूरे कर लिए हैं. मध्यप्रदेश की राजनीति में ऐसा करने वाले वे इकलौते राजनेता हैं आने वाले समय में किसी दूसरे मुख्यमंत्री के लिए इसे दोहरा पाना आसान नहीं होगा. भारतीय राजनीति के इतिहास में अभी तक केवल आठ राजनेता ही ऐसे हुए […]






फिदेल कास्त्रो : एक किवदंती

उपासना बेहार फिदेल कास्त्रो का नाम सामने आते ही लोह पुरुष की छबी उभर आती है. इन्हें क्यूबा में कम्युनिस्ट क्रांति का जनक माना जाता है. क्यूबा के इस महान क्रांतिकारी और पूर्व राष्ट्रपति का 90 साल की आयु में 26 नवम्बर 2016 को हवाना में निधन हो गया.  फिदेल कास्त्रो ने 49 साल तक […]






बाल कहानी – कैद और रिहाई

उपासना बेहार एक बार बहेलिया और उनके साथियों ने जंगल में चिड़ियों को पकड़ने के लिए एक जगह पर ढेर सारा अनाज फैला दिया था. जंगल के सभी पक्षी अनाज के लालच में उसे खाने के लिए चल पड़ते हैं तब एक बुद्धिमान तोता मणि उन्हें जाने से मना करता है और सभी को समझाता […]






तीन तलाक समान नागरिक संहिता और मोदी सरकार

जावेद अनीस समान नागरिक संहिता ;यूनिफार्म सिविल कोडद्ध स्वतंत्र भारत के कुछ सबसे विवादित मुद्दों में से एक रहा हैण् वर्तमान में केंद्र की सत्ता पर काबिज पार्टी और उसके पितृ संगठन द्वारा इस मुद्दे को लम्बे समय से उठाया जाता रहा है ण्यूनिफार्म सिविल कोड को लागू कराना उनके हिन्दुतत्व के एजेंडे का एक […]






किताब समीक्षा: ‘तरक्कीपसंद तहरीक के हमसफर’

उजाले उनकी यादों के-डॉ. रामचंद्र प्रगतिशील आंदोलन से जुड़े रचनाकारों, रंगकर्मियों और कलाकारों को किसी एक पुस्तक में लाना और उन पर कलम चलाना चुनौतीपूर्ण कार्य है। लेकिन इस चुनौती को स्वीकार किया है पत्रकार और साहित्यकार जाहिद खान ने। उनकी ताजातरीन पुस्तक ‘तरक्कीपसंद तहरीक के हमसफर’ को देखने, पढ़ने से ऐसा लगता है कि […]






सांस्कृतिक एकता की प्रतीक है विजयादशमी पर्व

भारत एक विशाल देश है। इसकी भौगोलिक संरचना जितनी विशाल है, उतनी ही विशाल है इसकी संस्कृति। यह इस भारत की सांस्कृतिक विशेषता ही है कि कोई भी पर्व समस्त भारत में एक जैसी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाता है, भले ही उसे मनाने की विधि भिन्न हो। ऐसा ही एक पावन पर्व […]






नवरात्र और कन्याएं

नवरात्र के दिनों में कन्या पूजन का विधान धर्मग्र्रन्थों में लिखित है, लेकिन आज समाज में फैली बुराईयों, कन्याओं के प्रति लोगों का गलत नजरिया एक बड़ी समस्या और चुनौती बनी हुई है। कन्याओं के प्रति लोगों की सोच से आज समाज में जहां कन्याएं असुरक्षित हैं, इसे लेकर कन्याओं के परिवारीजनों की चिन्ता जायज […]






शारदीय नवरात्र पूजा सर्वप्रथम भगवान श्रीराम ने की थी

  शारदीय नवरात्र आश्विन मास में शुक्लपक्ष की प्रतिपदा से प्रारंभ होते हैं। इस दौरान देश भर में मां भगवती के नौ रूपों की विधि विधान से पूजा की जाती है। शारदीय नवरात्र के बारे में कहा जाता है कि सर्वप्रथम भगवान श्रीरामचंद्रजी ने इस पूजा का प्रारंभ समुद्र तट पर किया था और उसके […]






satyamev india © 2015