Satyamev India

Online News Network

Category: विचार

आधार को ईवीएम से जोड़ फर्जी मतदान पर लगेगी रोक : रौनक

गोरखपुर। मोदी सरकार द्वारा आधार कार्ड को पैनकार्ड, बैंक खाते, रसोई गैस से लगायत सामाजिक फायदे की सभी योजनाओं से जोड़ दिया गया है लेकिन आश्चर्य की बात है कि आधार कार्ड को वोटर आईडी कार्ड (EPIC) से क्यों नहीं जोड़ा? आधार कार्ड को ईवीएम मशीन से क्यों नहीं जोड़ा? अगर आधार कार्ड को वोटिंग […]






कल्याणकारी योजनाओं में आधार का पेंच

2007 में शुरू की गई मिड डे मील भारत की सबसे सफल सामाजिक नीतियों में से एक है, जिससे होने वाले लाभों को हम स्कूलों में बच्चों कि उपस्थिति बाल पोषण के रूप में देख सकते हैं. आज मिड डे मील स्कीम के तहत देश में 12 लाख स्कूलों के 12 करोड़ बच्चों को दोपहर […]






बेटों की तुलना में बेटियों की जरूरतों पर अधिक ध्यान देते हैं पिता

न्यूयार्क| यूं तो हर पिता अपनी सभी संतानों को बराबर का प्यार देता है और उनकी हर जरूरत पूरी करने की कोशिश भी करता है, पर बात जब बाल्यावस्था में बेटे और बेटी की आवश्यकताओं की होती है तो वह बेटी की जरूरतों को लेकर अधिक सजग रहता है। यह दावा एक नए शोध में […]






त्राहि त्राहि नर्मदे

जावेद अनीस हम पुराने समय से ही कर्मकांड करने में माहिर रहे हैं जिसमें से ज्यादातर का मकसद खुद का कल्याण करना होता था. इधर मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार भव्य कर्मकांड आयोजित करने में बहुत आगे साबित हुई हैं. इसकी ताजा कड़ी “नमामि नर्मदे यात्रा”” है जो हाल ही में एक भव्य कार्यक्रम के साथ […]






कहानी तान्या

माँ और बेटी का रिश्ता बहुत अनमोल और संवेदनशील होता है. दोनों एक दूजे में अपना अक्स देखते है. कुछ कथाये ऐसी होती है , जिन्हें छूना  ही बहुत मुश्किल होता है , लिखना तो बहुत दूर की बात है . ऐसी ही एक सच्ची घटना- आज: दोपहर१ बजे   मैंनेसारे बर्तन सिंक में डाले […]






मोदी चुपचाप क्यो बैठे है दुम दबाकर ?

महेश झालानी आज देश की विदेश नीति का ऐसा बंटाधार कर दिया गया है कि संकट की स्थिति में भारत का साथ देने वाला कोई देश नही है। अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस, जर्मनी तथा ब्रिटेन आदि देश भारत मे माल बेचने को तो लालायित है, लेकिन संकट की घड़ी में सब के सब मुँह फेरने […]






मजदूरों के लिए विपरीत समय

यह एक जटिल और कन्फ्यूज़्ड समय है, जहां बदलाव की गति इतनी तेज और व्यापक है कि उसे ठीक से दर्ज करना भी मुश्किल हो रहा है. पूरी दुनिया में एक खास तरह की बैचनी महसूस की जा रही है. पुराने मॉडल और मिथ टूट रहे हैं. यहाँ तक कि अमरीका और यूरोप जैसे लोकतान्त्रिक […]






भ्रष्टाचार की बीमारी के इलाज के लिए ‘येश्वर्याज’ खोलेगी RTI क्लिनिक

लखनऊ: यूपी की सरकार ने आरटीआई एक्ट लागू होने से लेकर आज तक आमजन में आरटीआई एक्ट को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए कोई ख़ास प्रयास नहीं किया है l आरटीआई एक्ट लागू होने के बाद से अब तक के 11 सालों में भ्रष्टाचार की व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पारदर्शिता को लेकर सरकारी […]






सेक्स से ज्यादा मास्टरबेशन करना पसंद करती हैं महिलायें!

महिला हो या पुरुष सेक्स सभी की लाइफ की एक ऐसी तरंग है, जो कभी न कभी हिलोरे जरूर मारती है। ऐसे मौकों पर जब पार्टनर नहीं मिलता तो स्त्री और पुरुष दोनों हस्तमैथुन (मास्टरबेशन) का सहारा लेते हैं। कई बार लोगों को न चाहकर भी ऐसा करना पड़ता है। लेकिन क्या आपको मालूम है […]






सच्चर रिपोर्ट के दस साल:- गुनाह बेलज्जत

जावेद अनीस आजादी के बाद पिछले करीब सात दशकों के दौरान देश का विकास तो काफी हुआ है लेकिन इसमें सभी तबकों, समूहों की समुचित भागीदारी नही हो सकी है. देश के सबसे बड़े अल्पसंख्यक समूह मुसलिम समुदाय की दोहरी त्रासदी यह रही कि वह एक तरफ तो विकास की प्रक्रिया में हाशिये पर पहुँचता […]






satyamev india © 2015